Edition

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

मास्को यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी के तीन संकल्प तीसरी आर्थिक शक्ति , गरीबों के लिए तीन करोड़ घर और तीन करोड़ लखपति दीदी

मोदी 3.0 के 3 लक्ष्य
मास्को यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी के तीन संकल्प
तीसरी आर्थिक शक्ति , गरीबों के लिए तीन करोड़ घर और तीन करोड़ लखपति दीदी
रूस में भारतीय प्रवासियों को कहा ‘राष्ट्रदूत ‘

मोदी ३ ० के ३ लक्ष्य मास्को यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी के तीन संकल्प
मोदी ३ ० के ३ लक्ष्य
मास्को यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी के तीन संकल्प

मॉस्को : “मैंने प्रण किया था कि अपने तीसरे टर्म में, मैं तीन गुनी ताकत से काम करूंगा। तीन गुनी रफ्तार से काम करूंगा। और ये भी एक संयोग है कि सरकार के कई लक्ष्यों में भी तीन का अंक छाया हुआ है। सरकार का लक्ष्य है तीसरी टर्म में भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकॉनमी बनाना, सरकार का लक्ष्य है तीसरी टर्म में गरीबों के लिए तीन करोड़ आवास बनाना, तीन करोड़ घर बनाना, सरकार का लक्ष्य है तीसरी टर्म में तीन करोड़ लखपति दीदी बनाना। “- प्रधानमंत्री ने मोदी रूस में भारतीय समुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा।
भारत में जो Women Self Help Group चल रहे हैं गांव में। हम उनको इतना empower करना चाहते हैं, उतना Skill Development करना चाहते हैं, इतना Diversification करना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि मेरे तीसरे Term में गावों की जो गरीब महिलाएं हैं उसमें तीन करोड़ दीदी लखपति बनें। यानि उनकी सालाना इनकम 1 लाख रुपये से ज्यादा हो और हमेशा के लिए हो, बहुत बड़ा लक्ष्य है। लेकिन जब आप जैसे साथियों के आशीर्वाद होते हैं ना तो बड़े से बड़े लक्ष्य बहुत आसानी से पूरे भी होते हैं। और आप सब जानते हैं आज का भारत जो लक्ष्य ठान लेता है वो पूरा करके ही रहता है। आज भारत वो देश है जो चंद्रयान को चंद्रमा पर वहां पहुंचाता है जहां दुनिया का कोई देश नहीं पहुंच सका। आज भारत वो देश है जो digital transactions का सबसे reliable model दुनिया को दे रहा है। आज भारत वो देश है जो social sector की बेहतरीन policies से अपने नागरिकों को empower कर रहा है। आज भारत वो देश है जहां दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा startup ecosystem है। मैं जब 2014 में पहली बार आप लोगों ने जब मुझे देश की सेवा करने का मौका दिया। तब कुछ सैंकड़ों में startup हुआ करते थे, आज लाखों में है। आज भारत वो देश है जो रिकॉर्ड संख्या में patent file कर रहा है, रिसर्च पेपर पब्लिश कर रहा है और यही मेरे देश के युवाओं का पावर है, वही उनकी शक्ति है और दुनिया भी हिन्दुस्तान के नौजवानों के टैलेंट को देखकर अचंभित भी है।
इस बीच मॉस्को के सभागार में मौजूद लोगों ने लगातार प्रधानमंत्री मोदी के पक्ष में नारे लगाते रहे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जो रूस की अपनी दो दिवसीय यात्रा पर हैं, 9 जुलाई को पिछले दो दशकों में दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के नेतृत्व की सराहना की।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस में व्यवसाय कर रहे लोगों को ‘राष्ट्रदूत ‘ कहा।
‘पिछले 10 वर्षों में देश ने विकास की जो रफ्तार पकड़ी है, उसे देखकर दुनिया हैरान है। दुनिया के लोग जब भारत आते हैं…तो कहते हैं…भारत बदल रहा है। आप भी आते हैं तो ऐसा ही लगता है ना? वो ऐसा क्या देख रहे हैं? वो देख रहे हैं भारत का कायाकल्प, भारत का नव निर्माण, वो साफ-साफ देख पा रहे हैं। जब भारत जी-20 जैसे सफल आयोजन करता है, तब दुनिया एक स्वर से बोल उठती है, अरे भारत तो बदल रहा है। जब भारत सिर्फ दस वर्षों में अपने एयरपोर्ट्स की संख्या को बढ़ाकर दोगुना कर देता है, तो दुनिया कहती है वाकई भारत बदल रहा है। जब भारत सिर्फ दस साल में 40 हजार किलोमीटर से ज्यादा, ये आंकड़ा याद रखना, 40 हजार किलोमीटर से ज्यादा रेल लाइन का इलेक्ट्रिफिकेशन कर देता है…तो दुनिया को भी भारत के पॉवर का एहसास होता है। उनको लगता है देश बदल रहा है। आज जब भारत डिजिटल पेमेंट्स के नए रिकॉर्ड बना रहा है, आज जब भारत एल-वन प्वाइंट से सूरज की परिक्रमा पूरी करता है…आज जब भारत दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज बनाता है, आज जब दुनिया की सबसे ऊंची स्टैच्यू बनाता है, तो दुनिया कहती है वाकई भारत बदल रहा है। औऱ भारत कैसे बदल रहा है? कैसे बदल रहा है? भारत बदल रहा है, क्योंकि भारत अपने 140 करोड़ नागरिकों के सामर्थ्य पर भरोसा करता है। विश्व भर में फैले हुए भारतीयों का सामर्थ्य पर भरोसा करता है, गर्व करता है। भारत बदल रहा है, क्योंकि 140 करोड़ भारतीय अब विकसित देश बनने का सपना संकल्प लेकर के पूरा करना चाहते हैं। हिन्दुस्तान पूरा मेहनत कर रहा है, हर किसान कर रहा है, हर नौजवान कर रहा है, हर गरीब कर रहा है। ‘ – उन्होंने कहा।
नए भारत के तस्वीर बयां करते हुए उन्होंने कहा -” हम अपने इंफ्रास्ट्रक्चर की कमियां दूर तो कर ही रहे हैं, बल्कि हम global standards के माइलस्टोन क्रिएट कर रहे हैं। हम सिर्फ अपनी स्वास्थ्य सेवाएं नहीं सुधार रहे ऐसा नहीं है, बल्कि देश के हर गरीब को मुफ्त इलाज की सुविधा भी दे रहे हैं और दुनिया की सबसे बड़ी Health Assurance Scheme चलाते हैं आयुष्मान भारत। ये दुनिया की सबसे बड़ी स्कीम है।
चुनाव के दौरान मैं कहता था कि बीते 10 सालों में भारत ने जो विकास किया….वो तो सिर्फ एक ट्रेलर है। आने वाले 10 साल और भी Fast Growth के होने वाले हैं। Semiconductor से Electronics Manufacturing तक Green Hydrogen से Electric Vehicles तक और World Class Infrastructure, भारत की नई गति, दुनिया के विकास का और मैं बहुत जिम्मेदारी से कह रहा हूं, दुनिया के विकास का अध्याय लिखेगी। आज ग्लोबल इकॉनॉमी की ग्रोथ में 15 परसेंट भारत कंट्रीब्यूट कर रही है। आने वाले समय में इसका और ज्यादा विस्तार होना तय है। Global Poverty से लेकर Climate Change तक, हर Challenge को, Challenge करने में भारत सबसे आगे रहेगा, और मेरे तो डीएनए में है चुनौती को चुनौती देना।
भारत अब रूस में कजान और यिकातेरिन बुर्ग में दो नए काउंसुलेट खोलने का निर्णय लिया है। इससे आना-जाना और व्यापार-कारोबार और आसान होगा।
नई उभरती बहुध्रुवीय विश्व व्यवस्था (New Emerging Multipolar World Order ) में भारत को एक मजबूत Pillar के रूप में देखा जा रहा है। जब भारत Peace, Dialogue और Diplomacy की बात कहता है, तो पूरी दुनिया सुनती है। जब भी दुनिया पर संकट आता है, तो भारत सबसे पहले पहुंचने वाला देश बनता है। और भारत, दुनिया की उम्मीदों को पूरा करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगा। लंबे समय तक दुनिया ने एक Influence Oriented Global Order देखा है। आज की दुनिया को Influence की नहीं Confluence की ज़रूरत है।”- प्रधानमंत्री ने कहा
रूस में भारत के ब्रैंड एंबेसेडर्स हैं। जो यहां मिशन में बैठते हैं ना वो राजदूत हैं और जो मिशन के बाहर हैं ना वो राष्ट्रदूत हैं। आप ऐसे ही रूस और भारत के रिश्तों को मज़बूत बनाते रहें।
अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री राष्ट्रपति महामहिम व्लादिमीर पुतिन के साथ 22वें भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन की सह-अध्यक्षता की और मास्को में भारतीय समुदाय के सदस्यों को सम्बोधित किया।

https://x.com/i/status/1810539352851611964

https://goasamachar.in/archives/12952

 

 

Goa Samachar
Author: Goa Samachar

GOA SAMACHAR (Newspaper in Rajbhasha ) is completely run by a team of woman and exemplifies Atamanirbhar Bharat, Swayampurna Goa and women-led development.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Digital Griot

और पढ़ें

  • best news portal development company in india
  • buzzopen
  • Beauty Bliss Goa
Digital Griot

it companies madurai
10 advantages of computer
top 10 blanket company in india
top 10 profitable business in kolkata
best business ideas in chennai